लोकतंत्र का पाया न्यूज़पेपर को आवश्यकता है पुरे भारत के सभी जिलों से अनुभवी पत्रकारों की अभी संपर्क करे,मो0 ना0:-+91 8218104525

Loktantra ka paya

No.1 Hindi news Portal

New Delhi: Congress President Rahul Gandhi accompanied by party leader Randeep Surjewala, addresses a press conference at the party's headquarter in New Delhi, on May 17, 2019. (Photo: IANS)

कांग्रेस बैठक में वेणुगोपाल, सुरजेवाला की गैरमौजूदगी, पार्टी की मीटिंग से क्यों दूर रहे राहुल के ‘आंख-कान’

नई दिल्ली:- कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर बैठक के दौरान राहुल गांधी के करीबी सहयोगी के.सी. वेणुगोपाल और रणदीप सुरजेवाला मौजूद नहीं थे। सूत्रों ने यह जानकारी दी। वेणुगोपाल के करीबी सूत्रों ने कहा कि वह अपनी मां के निधन के बाद कुछ धार्मिक रस्म करने के लिए अपने पैतृक स्थान पर हैं लेकिन सवाल यह उठता है कि क्या राहुल गांधी ने वेणुगोपाल को जानबूझकर बैठक से दूर रखा। वेणुगोपाल का पार्टी में पद बढ़ाए जाने से असंतुष्टि, असहमति बढ़ी है।

शायद इसका कोई जवाब नहीं है और दूसरे खेमे के सूत्रों ने कहा कि उनकी अनुपस्थिति को एक संदेश के रूप में देखा जा रहा है कि राहुल गांधी वरिष्ठों के साथ काम करना चाहते हैं, इसलिए पंचमढ़ी की तर्ज पर विचार मंथन का सुझाव दिया जा रहा है, लेकिन पार्टी की स्थिति पर अंतिम विचार करने से पहले सोनिया गांधी अधिकांश नेताओं से मिलेंगी।

वरिष्ठ पार्टी नेता पवन बंसल ने कहा, “राहुल गांधी के साथ किसी को कोई समस्या नहीं है और यह सिर्फ आज के लिए नहीं है। हर किसी ने कहा कि हमें राहुल गांधी के नेतृत्व की जरूरत है। हमें अन्य लोगों के जाल में नहीं फंसना चाहिए जो पार्टी के एजेंडे से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं।”

23 नेताओं के समूह ने इस साल अगस्त में सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी नेतृत्व में सुधार की मांग की थी जिसके बाद ये बैठक हुई है।

%d bloggers like this: