लोकतंत्र का पाया न्यूज़पेपर को आवश्यकता है पुरे भारत के सभी जिलों से अनुभवी पत्रकारों की अभी संपर्क करे,मो0 ना0:-+91 8218104525

Loktantra ka paya

No.1 Hindi news Portal

दिल्ली की सीमा पर नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को एक महीना से ज्यादा का वक्त बीत चुका है. किसान अपनी मांग पर अभी भी अड़े हुए हैं. किसानों और सरकार के बीच अगले दौर की तारीख भी सामने आ चुकी है. इसी बीच पीएम मोदी ने 100वीं किसान रेल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. इस कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने अपने संबोधन में स्पष्ट कहा कि हम सही रास्ते पर हैं, हमारी नीयत साफ है और नीति स्पष्ट है. ऐसा माना जा रहा है कि आंदोलन कर रहे किसानों को ही पीएम मोदी ने यह संदेश दिया है. पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ये मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि हम सही रास्ते पर हैं, हमारी नीयत साफ है और नीति स्पष्ट है. शुरुआत में किसान रेल साप्ताहिक थी, कुछ ही दिनों में ऐसी रेल की मांग इतनी बढ़ गई कि अब सप्ताह में तीन दिन ये रेल चलानी पड़ रही है. सोचिए इतने कम समय में 100वीं किसान रेल, ये कोई साधारण बात नहीं है. ये स्पष्ट है संदेश है कि देश का किसान क्या चाहता है


पीएम मोदी ने आगे कहा कि ये काम किसानों की सेवा के लिए हमारी प्रतिबद्धता को दिखाता है. ये इस बात का भी प्रमाण है कि हमारे किसान नई संभावनाओं के लिए कितनी तेजी से तैयार हैं. किसान, दूसरे राज्यों में भी अपनी फसलें बेच सकें, उसमें किसान रेल और कृषि उड़ान की बड़ी भूमिका है. मुझे बहुत संतोष है कि देश के पूर्वोत्तर के किसानों को कृषि उड़ान से लाभ होना शुरू हो गया है. किसान रेल से किसानों को लाभ मिल रहा है और खर्च भी कम हो रहे हैं.

%d bloggers like this: